जो भी खाएगे पूरा पचेगा | Digestion kaise thik kare | how to improve digestion

क्या आपको भी ये परेशानी है बाहर का कुछ खा लिए तीखा चटपटा कुछ खा लिया तो पचता नहीं है। आजकल ऐसे दिनचर्या होगाई है और खान पान भी ऐसा हो गया है हमार पाचन खराब हो गया है । और अब उच्च भी ऊपर नीचे खान पान होता है तो पचता नहीं है कुछ लोग तो उलटा सीधा खा-खा कर अपना पाचन खराब कार लिए है Digestion kaise thik kare9how to improve digestion)सीघाड़ा के फायदे और नुकसान |Water Chestnut Health Benefits

अब काभी ऐसा होता है किसी पार्टी मे जाना हुआ या फिर कही घूमने जाना हुआ और कुछ भी खा लिया तो पेट की बैंड बज जाती और पेट खराब हो जाता है ऐसे में हम क्या करे की हमारा पाचन सही हो जाये हम बाहर जाकर आनंद भी ले सभी समारोह का और भोजन भी पच जाए तो आज के इस इस आर्टिकल में ऐसे ही कुछ बिन्दु साझा करेगे जिनका ध्यान अगर आप रखते है जिनको अगर आप अपनी रोज की दिनचर्या में शामिल करते है तो आपका पाचन एकदम बढ़िया हो जाएगा आप कुछ भी खाएगे पच जाएगा . तो आइये जानते है कैसे ये 5 चीजें आपकी सेहत के लिए वरदान है

ayurvedic medicine for digestion

अदरक सेंधा नामक से पाचन (digestion with ginger and pink salt )

अगर आपको भोजन नहीं पचता है तो अदरक और सेंधा नमक का उपयोग जरूर करें । अब आप कहेगे क्यों करे कारण बताइए तो आइए बताती हूँ कारण सर्दियों मे शरीर को गरम रखना है तो जरूर खाएं ये चीजें, रहेंगे फिट और हेल्दी| winter superfood

अगर आप खाने से पहले चबा चबा कर अदरक और सेंधा नामक खाते है तो आपकी पाचन अग्नि बहुत अच्छे से काम करती है जो भी भोजन आपने पहले किया है वो बहुत अच्छे से पच जाता है । पाचक रस अच्छे से बनता है जिससे भूख भी बहुत अच्छे से लगती है और जो भी भारी भोजन तेल मसाला वाला भोजन करने के लिए शरीर अपने आपको तैयार कर लेता है इसलिए भोजन करने के पहले एक चुटकी सेंधा नमक और अदरक चबा-चबा के खाने से पाचन अग्नि अच्छी रहती है । Stop these 5 morning mistakes|सुबह की ये गलतिया आपकी सेहत के लिए खतरा है तुरंत बंद करें

भोजन की शुरुवात हमेशा मीठे से करें ( for better digestion take sweet before meal )food good for digestion

भोजन की शुरुवात हमेशा मीठे से करें ना जाने कहा से ये भ्रम फैला दिया गया है की भोजन के उपरांत मीठा खिलाया जाता जबकि आयुर्वेद मे मीठा भोजन के पहले बताया गया है । इसका कारण यह है की मीठा पचने में भारी होता है इसलिए जब भूख अच्छे से लगी रहती है और मीठा खाते है तो उसका पाचन पहले हो जाता है । क्योंकि जब भूख लगती है तो जठराग्नि तेज होती है उस समय जो भी खाते है उसका पाचन जल्दी होता है । भोजन की शुरुवात अगर आप मीठे से करते है तो आपकी शक्ति बढ़ेगी और आपका पाचन तंत्र भी बहुत अच्छा रहेगा । पर अगर भोजन के बाद मीठा खाते है तो यही मीठा मोटापा आलस और कई तरह के रोग देता है । तो जब भी जाए की पार्टी मे तो सबसे पहले उठाए प्लेट मीठे की । 8 health warning sign| ये संकेत बताते हैंआपको कोई गंभीर health problem हैये symptoms इग्नोर न करें

भोजन करने का तरीका (the way to take food for good digestion)

आयुर्वेद मे भोजन करने की एक विशेष नियम बताया गया है आयुर्वेद के अनुसार जितनी भी भूख है आपको उसका 50 % सालिड खाइए जैसे चावल रोटी सभी फल सलाद लिकोरिया कितने प्रकार का होता है|types of leukorhia

बाकी 25 % लिक्विड का उपयोग कीजिए जैसे दाल छाछ रसेदार सब्जिया सूप इन सब चीजों का उपयोग कर सकते है और बाकी के 25 % खाली रहने दीजिए ताकि भोजन का पाचन अच्छे से हो पर हम क्या करते है पेट भर के नहीं पेट भरने के बाद भी खाते है आर भाई पार्टी किसी और की होगी भोजन किसी और का होगा पर पेट और शरीर आपका ही है तो थोड़ा संभाल कर । आयुर्वेद की इस नियम का पालन करेगे तो ज्यादा खाने से बचेगे और भोजन को भी इन्जॉय करेगे पार्टी को भी और बेहतरीन स्वास्थ्य को भी ।

भोजन करने के बाद गरम पानी( hot water for good digestion)

भोजन के उपरांत अक्सर होटल मे आप हाथ धुलने के लिए गरम पनि का उपयोग करते है न वही जो कटोरे मे नींबू के टुकड़े डाल कर ले आते है । उनसे बोलिए ऐसे ही गरम पानी पीने के लिए भी लाए क्योंकि आयुर्वेद मे कहा गया है की जब आप भारी चीजें खाते है तो गरम पानी का सेवन करना चाहिए क्योंकि जब आप भारी भोजन करते है उसमे तेल और चिकने पदार्थ होते है ऐसे मे अगर गरम पानी का सेवन करते है तो वो आसानी से पच जाता है ।भोजन के बाद गरम पानी पीने से तेल और घी की चीजें आसानी से पच जाती है । भोजन के बाद दो से चार घूंट गरम पानी आपके पाचन को मक्खन की तरह स्मूद कर देगा । या फिर सूप भी ले सकते है । जी हा जो सूप आप पहले पीते हैउसे आप बाद मे पी ले तो जो भी भोजन आपने किया है वो आसानी से हजम हो जाएगा या फिर भोजन के बाद ग्रीन टी ले ले । ये आपके मेटॉबोलिस्म को बूस्ट करता है । vitamin D3 calcium deficiency| विटामिन डी की कमी क्या है कारण, लक्षण, भोजन और उपचार

तो भोजन के ये चार नियम याद रखे तो भोजन अच्छे से पचेगा और आप भोजन का आनंद ले सकेगे । अपने पाचन तंत्र को मजबूत बना सकेगे

Leave a Reply

%d bloggers like this: