curry leaves benefits

  • करी पत्ता (मीठा नीम) क्या है? : What is Curry tree leaf (Meetha Neem) in Hindi?
  • अन्य भाषाओं में करी पत्ता (मीठा नीम) के नाम : Name of Curry tree leaf (Meetha Neem) in Different Languages
  • करी पत्ता के फायदे
    • Anti-dippression anti-oxident
    • Anti-aging विटामिन C का श्रोत
    • त्वचा लिए फायदेमंद
    • बाल के लिए फायदेमंद
    • मधुमेह शुगर में फायदेमंद
    • गर्भधारण में सहायक
    • वजन घटाने में कढ़ी पत्ता के फायदे
    • एनीमिया में लाभदायक
    • लिवर के लिए कढ़ी पत्ता के फायदे
    • डायरिया से बचाव
    • दिल का रखे ख्याल
    • कोलेस्ट्रोल का नियंत्रण
    • संक्रमण से बचाव में कढ़ी पत्ता के फायदे
    • मूत्र रोग में कढ़ी पत्ता के फायदे (Benefits of Curry tree leaf  (Meetha Neem) to Treat Urinary Disease in Hindi)
    • सिर दर्द बुखार में मीठा नीम के फायदे(Benefits of Curry tree leaf in Relief from Headache and Fever in Hindi)
    • मोतियाबिंद में करी पत्ता (मीठा नीम) के फायदे (Curry tree leaf (Meetha Neem) Benefits for Cataract Treatment in Hindi)
    • मुंह की बदबू में करी पत्ता (मीठा नीम) के फायदे (Curry tree leaf (Meetha Neem) Benefits for Mouth Odor in Hindi)
    • बदहजमी दस्त उल्टी में के फायदे(Uses of Ayurvedic Medicine Curry tree leaf for Indigestion in Hindi)
    • पेट में कीड़े पेट दर्द होने पर करी पत्ता के फायदे (Benefits of Curry tree leaf (Meetha Neem) for Abdominal Bug Abdominal Pain in Hindi)
  • करी पत्ता (मीठा नीम) के उपयोगी भाग (Beneficial Part of Curry tree leaf (Meetha Neem) in Hindi)
  • कढ़ी पत्ते का पौष्टिक तत्व – Curry Leaves Nutritional Value in Hindi

कढ़ी पत्ता (मीठा नीम) क्या है? : What is Curry tree leaf (Meetha Neem) in Hindi?

हमारे घर की रसोई में बहुत पहले से मीठी नीम की पत्तियों का उपयोग किया जा रहा है इसके गीले और सूखे पत्तों को छौंक चटनी मस्सलों में उपयोग किया जाता है इससे भोजन बहुत स्वादिष्ट, सुगन्धित हो जाते हैं। परन्तु ये सिर्फ खुशबु ही नही देते इनके भुत सारे स्वस्थ्य लाभ भी है .इस वजह से इनको हमारे रोजमर्रा के जीवन में उपयोग किया गया है

अन्य भाषाओं में करी पत्ता (मीठा नीम) के नाम : Name of Curry tree leaf (Meetha Neem) in Different Languages

करी पत्ता (मीठा नीम) का वानस्पतिक नाम Murraya koenigii   (Linn.) Spreng. (मुराया कोईनीगी) है, और यह Rutaceae (रूटेसी) कुल का है। करी पत्ता के अन्य ये भी नाम हैंः-

Curry tree leaf in –

  • Hindi- करीपत्ता,मीठानीम, कटनीम,
  • English- Curry leaf tree (करी लीफ ट्री), लीफ (Curry leaf), करी बुश (Curry bush)
  • Telugu- करीवेपाकु (Karivepaku), करीवेमु (Karivemu)
  • Sanskrit- कैडर्य, कैटर्य, सुरभिनिम्ब
  • Oriya- बरसान (Barsan), बसनगो (Basango), भुरसुंगा (Bhursunga)
  • Gujarati- गोरानिम्ब (Goranimb), मीठा लीम्ड़ो (Mitha limbdo), कढ़ीलीम्ड़ो (Kadhilimbdo)
  • Mijoram- अर्पटिल (Arpatil)
  • Arabic- वरक अल करी (Warak al kari)
  • Malayalam- करीवेपु (Karivepu), करीयापेला (Kariyapala)
  • Assamese- बिशहारी (Bishahari), नारासिंग्हा (Narasingha)
  • Kannada- करीबेवु (Karibevu), गंधबेवु (Gandhbevu)
  • Tamil- करूवेप्पीलई (Karuveppilei), करूवेम्पु (Karuvempu) 
  • Bengali- बरसुंगा (Barsunga), करियाफली (Kariaphali)
  • Nepali- मीठो नीम (Mitho neem)
  • Punjabi- बोवला (Bowala), गन्दालु (Gandalu)
  • Marathi- करहीनीम्ब (Karhinimb), करीपात (Karipat)

यहां करी पत्ता के फायदे और नुकसान की जानकारी बहुत ही आसान भाषा (Curry tree leaf benefits and side effects in Hindi) में लिखी गई है ताकि आप करी पत्ता के औषधीय गुण से पूरा-पूरा लाभ ले पाएं

(1) Anti-dippression anti-oxident

करी पत्ता antidipression का काम करता है जब भी आप depression में हो करी पत्ती का तो दो तीन पत्ती पानकी तरह चबा कर सेवन करने से dippression में तुरंत आराम मिलता है .करी पत्ती dippression में बहुत फायदेमं होता है जब भी टेंशन में हो जाये तो ये तुरन्त लाभ पहुचता इसमें antioxident तत्व होते हैं इससे माइंड में ऑक्सीजन का फ्लो बढ़ता है जिससे दिमाग शांत होता है और dippression में आराम मिलता है

(2) Anti-aging विटामिन C का श्रोत( curry leaves are anti aging andsource of vitamin C )

विटामिन C का बहुत अच्छा श्रोत है करी पत्ता .अगर आपको अन्दर अंदर बुखार जैसा महसूस होता है और डाक्टर भी नही समझ पाते ऐसे बीमारी में अनार के साथ करी पत्ता बहुत फायदेमंद होता है .अगर अनार और कर्री पत्ता डालकर सुबह नाश्ते में खाते है तो कुछ ही देर में आप अच्छा महसूस करेगे . अगर आप इसका चाय पाउडर या खाने में उपयोग करते है तो ये antiaging का काम करता है इसका मतलब आपकी त्वचा बहुत अच्छी हो जाएगी आपके बाल बहुत अच्छे हो जायेगे आपको अन्दर से सुन्दर बनाएगा .आपके शारीर पर बुढापे का असर बहुत देर से दिखेगा

करी पत्ता आपके इम्यून सिस्टम बढ़ता है बिमारियों से लड़ने की छमता को बढाता है मौसम की वजह से हुई बीमारी से ये लड़ने में मदद करता है .

(3) त्वचा लिए फायदेमंद

विटामिन ई कर्री पत्ता में पाई जाती है ये water soluble विटामिन ई होती है .जबकि की करी पत्ता में पानी में घुलनशील विटामिन E होता है जो की हमारी त्वचा को इन्फेक्शन से बचाता है .यह किसी भी तरह के इन्फेक्शन को हटाता है ,कढ़ी पत्ते का प्रयोग त्वचा के लिए भी काफी फायदेमंद साबित होता है। इसके तेल में मौजूद तत्वों में कुछ ऐसे गुण पाए जाते हैं, जिनके प्रभाव से जले-कटे और बैक्टीरियल इन्फेक्शन को दूर करने में मदद मिलती है। इसके लिए इसकी पत्तियों का पेस्ट बनाकर इसे उपयोग में लाया जा सकता है

(4) बाल के लिए फायदेमंद

hair growth में करी पत्ता बहुत फायदेमंद होता है .जिनके बाल सफ़ेद होने सुरु हो गये हो उन्हें करी पत्ता तेल में पकाकर लगाने से बहुत फायदा मिलता है .सफ़ेद बाल फिर से काले होने लगते हैं.करी पत्ता का फेश पैक भी बनाकर उपयोग किया जा सकता है.कढ़ी पत्ते के तेल में पाए जाने वाले पोषक तत्व बालों के लिए भी बहुत फायदेमंद होते हैं कढ़ी पत्ते का तेल बालों पर लगाने से बालों की जड़ें मजबूत होती हैं। इसका नियमित उपयोग बालों के विकास में मदद करता है।

(5) मधुमेह शुगर में फायदेमंद

रोज सुबह ताजा करी पत्ता को धुलकर चबाकर खाने से मधुमेह में फायदा होता है और वजन कम करने में भी सहायता मिलती है पर इसे खाली पेट ही खाना है कढ़ी पत्ते में हाइपोग्लाइसेमिक (शुगर लेवल को कम करना) गुण पाए जाते हैं यह गुण शरीर में शुगर की मात्रा को कम करने में मदद करता है।

इसमें विटामिन B होता है विटामिन B बिमारियों से लड़ने खुबसूरत रहने के लिए स्वस्थ रहने के लिए बहुत जरुरी होता है इसमें फोलिक एसिड b-9 बहुत अच्छा होता है

(6) गर्भधारण में सहायक

जिनको गर्भधारण में परेशानी है उनको करी पत्ता की चाय लेनी चाहिए ये VEGINAL इन्फेक्शन को भी हटाता है

विटामिन a एनीमिया में फायदेमंद आयरन अब्सोर्ब करता है ह्रदय रोग में कोलोस्ट्रोल कोल्ड और कफ में ,हमारे शरीर के आयरन को असोर्ब करने की शक्ति बॉडी को देता है

कारी पत्ता को पाउडर बनाकर भी उसे अपनी मसलों में भी उपयोग क्र सकते है जिनको तजा नही मिलता वो पाउडर उपयोग क्र सकते

(7) वजन घटाने में कढ़ी पत्ता के फायदे

कढ़ी पत्ते में डाइक्लोरोमेथेन, एथिल एसीटेट और महानिम्बाइन जैसे तत्व पाए जाते हैंये तत्व वजन घटाने, कोलेस्ट्रॉल को कम करने और ट्राइग्लिसराइड के स्तर को संतुलित करने में बहुत सहायक होते है । इसलिए कढ़ी पत्ते का उपयोग वजन घटाने में मददगार  होता है रोज सुबह खली पेट 4 से 5 पत्ती को चबाकर खाने से वजन संतुलित होता है

(8) एनीमिया में लाभदायक

अलावा कड़ी पत्ता में कैल्सियम आयरन, जिंक और वैनेडियम जैसे तत्त्व पाए जाते है। इस कारण कहा जा सकता है कि एनीमिया से निजात दिलाने में कढ़ी पत्ते का उपयोग सहायक साबित हो सकता है ।एनीमिया में फायदेमंद आयरन अब्सोर्ब करता है

 (9) लिवर के लिए कढ़ी पत्ता के फायदे

कढ़ी पत्ते में टैनिन और कारबाजोले एल्कलॉइड जैसे तत्व मौजूद होते हैं। इन तत्वों में हेप्टोप्रोटेक्टिव गुण पाए जाते हैं, जो लिवर की सक्रीय रखते हैं । साथ ही उससे संबंधित हेपेटाइटिस और सिरोसिस जैसेखतरा को कम करने में मदद करते हैं 

(10) डायरिया से बचाव

कढ़ी पत्ते में कार्बाजोले एल्कलॉइड्स तत्त्व पाए जाते जो डायरिया से बचाव करने में सहायक होते है। इसलिए इसका नियमित उपयोग करने से डायरिया से बचाव में मदद करता है

(11) दिल का रखे ख्याल

कढ़ी पत्ता एक आयुर्वेदिक औषधि है, जो विटामिन सी, एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लेमेटरी गुणों से समृद्ध होता है। हृदय संबंधी बीमारियों के इलाज लिए करी पत्ते का उपयोग एक कारगर आयुर्वेदिक औषधि के रूप में लंबे समय से होता आया है। इसके अलावा करी पत्ता कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने का काम भी करता है, जो हृदय को स्वस्थ रखने के लिए बहुत जरूरी है

(12) कोलेस्ट्रोल का नियंत्रण

कि कढ़ी पत्ते में विटामिन सी के साथ एंटीऑक्सीडेंट और एंटीइन्फ्लामेट्री गुण मौजूद होते हैं। वहीं इस संबंध में किये गए एक शोध में विशेषज्ञों ने पाया कि कढ़ी पत्ते का उपयोग शरीर से बैड केलेस्ट्रोल की मात्रा को घटाने में मदद करता है

(13 )संक्रमण से बचाव में कढ़ी पत्ता के फायदे

कढ़ी पत्ते के तेल में पाए जाने वाले कुछ खास पोषक तत्वों में एंटीबायोटिक और एंटीफंगल गुण भी पाए जाते हैं। इसमें पाए जाने वाले यही गुण बैक्टीरिया और फंगल इन्फेक्शन को कम करने में मदद करता हैं इसलिए करी पत्ता संक्रमण से बचाव भी करता है।

(14) मूत्र रोग में कढ़ी पत्ता के फायदे (Benefits of Curry tree leaf  (Meetha Neem) to Treat Urinary Disease in Hindi)

पेशाब से जुड़ी बीमारी होने पर करी पत्ता का सेवन करने से फायदा होता है। इसके लिए करी पत्ता के 5 मिली रस को पिएं। इससे लाभ होता है।

(15) सिर दर्द बुखार में मीठा नीम के फायदे(Benefits of Curry tree leaf in Relief from Headache and Fever in Hindi)

सिर दर्द होने पर करी पत्ता के उपयोग से लाभ मिलता है। करी पत्ता (मीठी नीम) के फूलों को पीस कर सर पर लगाने से सिर दर्द ठीक होता है

(16) मोतियाबिंद में करी पत्ता (मीठा नीम) के फायदे (Curry tree leaf (Meetha Neem) Benefits for Cataract Treatment in Hindi)

मोतियाबिंद में भी मीठी नीम के उपयोग से लाभ होता है। मीठी नीम के ताजे पत्ते का रस निकाल कर आंखों में काजल की तरह लगाने से मोतियाबिंद की बीमारी में मदद मिलती है।

(17)मुंह की बदबू में करी पत्ता (मीठा नीम) के फायदे (Curry tree leaf (Meetha Neem) Benefits for Mouth Odor in Hindi)

मीठी नीम की 2-4 पत्तियों को चबाकर खाने से मुंह से दुर्गंध आना बंद हो जाता है।मुंह में होने वाली बीमारी जैसे मुंह के छाले की समस्या में मीठी नीम के पत्तों का काढ़ा बना कर ,इससे गरारा करने से बीमारी ठीक होती है

(18)बदहजमी दस्त उल्टी में के फायदे(Uses of Ayurvedic Medicine Curry tree leaf for Indigestion in Hindi)

मीठी नीम के पत्ते के रस में निम्बू का रस और शर्करा मिला लें। इसे एक चम्मच की मात्रा में सुबह के समय पिएं। इससे उल्ट, मुंह से पानी आने (लार गिरना) की समस्या और बदहजमी के साथ-साथ बदहजमी के कारण होने वाली उल्टी भी ठीक होती है।मीठी नीम के 2-4 फलों को पीसकर खिलाएं। इससे दस्त पर रोक लगती है।

(19)पेट में कीड़े पेट दर्द होने पर करी पत्ता के फायदे (Benefits of Curry tree leaf (Meetha Neem) for Abdominal Bug Abdominal Pain in Hindi)

10-15 मिली मीठी नीम पत्ते के रस को पिलाने से पेट के कीड़े खत्म होते हैं। मीठी नीम की जड़ के काढ़ा में सोंठ चूर्ण मिलाकर पीने से पेट का दर्द ठीक होता है।

करी पत्ता (मीठा नीम) के उपयोगी भाग (Beneficial Part of Curry tree leaf (Meetha Neem) in Hindi)

करी पत्ता के इन भागों का उपयोग किया जाता हैः-

  • पत्ते
  • जड़
  • फल
  • छाल

कढ़ी पत्ते का पौष्टिक तत्व – Curry Leaves Nutritional Value in Hindi

पोषक तत्वमात्रा प्रति 100 ग्राम
फास्फोरस600mg
कैल्सियम810mg
विटामिन सी4mg
कैरोटीन (विटामिन ए के रूप में)12600IU
आयरन3.1mg
निकोटिनिक एसिड2.3mg

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: