health benfits of til (sesame seed)

health benfits of til (sesame seed)तिल हम सभी के घरों में इस्तेमाल होता है .सर्दियां आते ही ज्यादातर घरों में तिल के व्यंजन बनने लगता हैं .ठण्ड के दिनों में तिल के व्यंजन तो स्वादिष्ट लगते ही है उनके लाभ कितने है की आप आज से ही अपने घर में तिल का प्रयोग सुरु कर देगे . health benfits of til (sesame seed) हड्ड‍ियों की मजबूती से लेकर घने-लंबे बाल तक- तिल का प्रयोग शरीर के हर हिस्‍से के लिए बेमिसाल माना जाता है। तो स्वाद और सेहत दोनों ही साथ साथ चले तो कितना अच्छा है न. तिल शरीर को गर्माहट भी देता है। इस वजह से ठंड के मौसम में इसका प्रयोग खूब होता है। वहीं तिल के तेल में खाना बनाने से दिल भी स्‍वस्‍थ रहता है। सर्दियों में कुछ चीजों का सेवन करना किसी जड़ी-बूटी के सेवन करने से कम नहीं है।

हमारे पूर्वजों ने जो भी तीज त्यौहार बनाये उनके व्यंजन बनाये वो सब science पर आधारित होता था जिसे आज का science भी सिद्ध कर रहा है .तिल का प्रयोग हमारे यहाँ मकर संक्रांति के लिए होता है उस दिन सभी तिल के लड्डू खाते है .तो इन त्योहारों पर इसलिए इन्हें बनाया जाता था जो लोग ऐसे न उपयोग करे त्यौहार के बहाने ही इसका उपयोग हर साल जरुर करें.काला तिल हो या सफेद- दोनों ही सेहत के लिए लाभकारी हैं।

 तिल में मोनो-सैचुरेटेड फैटी एसिड होता है जो शरीर से कोलेस्ट्रोल के स्तर को कम करता है. दिल से जुड़ी बीमारियों के लिए भी यह बहुत लाभकारी है.

शोध के अनुसार तिल में सेसमीन नाम का एन्टीऑक्सिडेंट पाया जाता है जो कैंसर कोशिकाओं को बढ़ने से रोकता है. अपनी इसी गुणवत्ता की वजह से ही यह लंग कैंसर, पेट के कैंसर, ब्रेस्ट कैंसर ल्यूकेमिया, प्रोस्टेट कैंसर, होने की आशंका को कम करता है. इसके अलावा भी तिल के कई फायदे हैं:

1. तनाव (depression) को कम करने में सहायक

तिल में कुछ ऐसे तत्व और विटामिन पाए जाते हैं जो तनाव और डिप्रेशन को कम करने में मदद करते हैं.तिल का प्रयोग मानसिक दुर्बलता को कम करता है,तिल में कुछ ऐसे तत्व और विटमिन्स भी पाए जाते हैं जिससे नींद अच्छी आती है जिससे आप तनाव, डिप्रेशन से मुक्त रहते हैं। रोज थोड़ी मात्रा में तिल का उपयोग कर आप मानसिक समस्याओं से निजात पा सकते हैं

2. हृदय की मांसपेशि‍यों के लिए

तिल में कई तरह के लवण जैसे कैल्श‍ियम, मैग्नीशियम, जिंक,आयरन और सेलेनियम होते हैं जो हृदय की मांसपेशि‍यों को सक्रिय रूप से काम करने में मदद करते हैं.

3. हड्डियों की मजबूती के लिए

सर्दियां आयीं नहीं कि हड्डियां और जोड़ों के दर्द से जुड़ी समस्याएं परेशान करने लगती हैं।दरअसल, तिल में जस्ता, कैल्शियम और फॉस्फॉरस जैसे जरूरी खनिज पाए जाते हैं, जो शरीर की हड्डियों के लिए लाभकारी हैं। ये खनिज नई हड्डियों को बनाने, हड्डियों को मजबूत करने और उनकी मरम्मत करने में मदद करते हैं तिल में डाइट्री प्रोटीन और एमिनो एसिड होता है जो बच्चों की हड्डियों के विकास को बढ़ावा देता है. इसके अलावा यह मांस-पेशियों के लिए भी बहुत लाभकारी है.

4. त्वचा के लिए

तिल का तेल त्वचा के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है. त्वचा में नमी बरकरार रहती है इसकी मदद से त्वचा को जरूरी पोषण मिलता है .तिल का उपयोग चेहरे पर निखार के लिए भी किया जाता है। तिल को दूध में भिगोकर उसका पेस्ट चेहरे पर लगाने से चेहरे पर प्राकृतिक चमक आती है, और रंग भी निखरता है। इसके अलावा तिल के तेल की मालिश करने से भी त्वचा चमकदार हो जाती है।

 5.बालों के लिए

तिल का प्रयोग बालों के लिए वरदान की तरह है। तिल के तेल से बालों में मालिश करके 1 घंटे बाद बाल धुल ले बालों में जो चमक आयेगी वो किसी भी कंडीशनर से नही मिलेगी साथ ही बालों को पोषण भी देगा तिल का तेल .या फिर प्रतिदिन थोड़ी मात्रा में तिल को खाने से, बालों का असमय पकना और झड़ना बंद हो जाता है।

 6.कब्ज

तिल को कूटकर खाने से कब्ज की समस्या नहीं होती, ही काले तिल को चबाकर खाने के बाद ठंडा पानी पीने से बवासीर में फायदा होता है। इससे पुराना बवासीर भी ठीक हो जाता है।  

7. जल जाने

शरीर के किसी भी अंग की त्वचा के जल जाने पर, तिल को पीसकर घी और कपूर के साथ लगाने पर आराम मिलता है, और घाव भी जल्दी ठीक हो जाता है।

8.सूखी खांसी

 सूखी खांसी होने पर तिल को मिश्री व पानी के साथ खाने से आराम मिलता है। इसके अलावा तिल के तेल को लहसुन के साथ गर्म करके, गुनगुने रूप में कान में डालने पर कान के दर्द में आराम मिलता है।  

9.दर्द में राहत

सर्दियों में तिल का सेवन शरीर में उर्जा का संचार करता है, तिल के तेल की तासीर गर्म होती है इसलिए इसके तेल की मालिश से दर्द में राहत मिलती है।

10.दांतों के लिए

तिल, दांतों के लिए भी फायदेमंद है। सुबह शाम ब्रश करने के बाद तिल को चबाने से दांत मजबूत होते हैं, साथ ही यह कैल्शियम की कमी को भी पूरा करता है। 

11. फटी एड़ि‍यों

 फटी एड़ि‍यों में तिल का तेल गर्म करके, उसमें सेंधा नमक और मोम मिलाकर लगाने से एड़ि‍यां जल्दी ठीक होने के साथ ही नर्म व मुलायम हो जाती है।

 12.मुंह में छाले होने

मुंह में छाले होने पर, तिल के तेल में सेंधा नमक मिलाकर लगाने पर छाले ठीक होने लगते हैं। 

13.दिमाग की ताकत बढ़ेगी

एक शोध के अनुसार तिल में प्रोटीन, कैल्श‍ियम, मिनरल्स, मैगनीशियम, आयरन, और कॉपर समेत कई पोषक तत्व पाए जाते हैं और सर्दियों में तिल का सेवन करने से दिमाग की ताकत बढ़ती है। रोजाना तिल का सेवन करने से याददाश्त कमजोर नहीं होती और बढ़ती उम्र का असर दिमाग पर जल्दी नहीं होता।

​14.हाइपरटेंशन रहेगा दूर

तिल में पाया जाने वाला तेल हाई ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करता है। इससे कार्डियोवस्क्युलर सिस्टम पर तनाव कम होता है और हृदय की कई समस्याओं को रोकने में मदद मिलती है। इसके अलावा, मैग्नीशियम हाइपरटेंशन को कम करने के लिए जाना जाता है और तिल इस जरूरी मिनरल से भरा है और इसके सेवन से शरीर को जरूरी 25 फीसदी मैग्नीशियम मिलता है।

​15.कलेस्ट्रॉल कम करता है तिल

कलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में काला तिल लाभकारी है। इनमें सेसामिन और सेसमोलिन नामक दो पदार्थ होते हैं, जो लिग्नांस नामक फाइबर का समूह होते हैं। लिग्नांस के प्रभाव से कलेस्ट्रॉल कम होता है, क्योंकि वे आहार फाइबर में समृद्ध हैं।तिल में मौजूद लवण जैसे कैल्श‍ियम, आयरन, मैग्नीशियम, जिंक और सेलेनियम आद‍ि द‍िल की मांसपेशि‍यों को एक्‍टिव रखने में मदद करते हैं.

 

Leave a Reply

%d bloggers like this: