Knee pain home remedy | घुटनों के दर्द का घरेलु इलाज

घुटने का दर्द आज के समय में एक विकट स्वास्थ्य समस्या बन गई है । हमारे आधुनिक जीवन के खान पान की वजह से या फिर रोजमर्रा की दिनचर्या की वजह से हम दिन प्रतिदिन अनेकों बीमारियों से घिरते जा रहे है ।आजकल 25-30 की उम्र से ही घुटने में कमर में दर्द शुरू हो जा रहा है।

कारण

acidity problem solution |एसिडिटी के घरेलु उपाय

इन सबका सबसे प्रमुख कारण खाने से हमे भरपूर विटामिन्स और मिनरल्स नही मिल रहे ,जो हमारे शरीर की जरूरतो को पूरा करने के लिए चाहिए। पर आजकल के मिलावट के जमाने मे विटामिन्स मिनरल्स से भरपूर खाना भी मिलना मुश्किल ही है|

rose health benefits and use|गुलाब के फूल के अद्भुत फायदे और उपयोग

और दूसरा कारण हमारी दिनचर्या रोजमर्रा की ।हम अपने रोजमर्रा के जीवन मे इतना व्यस्त हो गए कि जो चीज हमारी सबसे कीमती हम उसे ही खोते चले जा रहे| हमारा स्वास्थ्य ही नही रहेगा तो हम किसी काम के नही रह जाएंगे|

तो सबसे पहले हमें अपनी आदतों में सुधार करना होगा| एक सुव्यवस्थित lifstyle अपनाना होगा ,तभी जाकर हम हमेशा के लिए बीमारियों से निजात पा सकते है ।

हमारा आयुर्वेद कहता है अपने डॉक्टर खुद बनिये अपने रोग पहचानिए घर पर ही आप उनसे कैसे निपट सकते उसका हल खोजिये| कभी कभी हम पुरी दुनिया इलाज कर आते कोई फायदा नही होता. और आस पास की चीजों अपने रसोई की चीजों में ही हमारी समस्या का हल होता है ।

Carrot health benefits | gajar ke fayde aur aushadhiya gun in Hindi

आयुर्वेद एक ऐसे चिकित्सा पद्धति है जो रोगों को जड़ से खत्म करती है| उन्हें दबाती नही तो थोड़ा लंबा इलाज चलता पर फायदा आपको जरूर होगा और वो भी हमेशा के लिए टेम्परेरी नही arthritis knee pain treatment at home। दर्द के लिए हम आम तौर पर पेनकिलर लेते है जो कि हमारे शरीर को और भी नुकसान पहुचाती है ।पेनकिलर से से हम कुछ समय के लिए दर्द से आराम तो पा लेते पर हमेशा दवा खाना भी उचित नही। घुटने में अगर दर्द ज्यादा बढ़ गया तो डाक्टर बोल देते घुटने के आपरेशन के लिए और घुटने के आपरेशन में स्थितिऔर भी बुरी हो जाती ।

Only one habbit keep you forever young | बस एक आदत जो रखे आपको हमेसा जवान

जबकि हमारे आयुरवेद में घुटने का रामबाण इलाज है ।घुटने के दर्द ।के आराम के लिए हम यह आपको कुछ ऐसे उपाय बतायेगे जो घर मे ही आप बहुत ही आराम से कर सकते है जिनका कोई साइड इफ़ेक्ट नही ,और न ही ज्यादा खर्च है । और न ही कोई मेहनत का काम .arthritis knee pain treatment at home

उपाय निवारण

पहला है चुना दूसरा मेथी तीसरा गेहू के ज्वार का रस और चौथा सबसे अचूक उपाय जिनको बहुत ज्यादा परेशानी उनके लिए चौथा उपाय सबसे उत्तम है वो है हरीश्रृंगार का पत्ते का काढ़ा ।तो अब लेना कैसे है ये जानते है ।arthritis knee pain treatment at home

चुना

जिनको भी घुटने में दर्द हो वो चुना 1 खाये उनके घुटने के दर्द में बहुत आराम होगा।चुने में भरपूर मात्रा में कैल्शियम होता है जो हमारी हड्डियों को मजबूत करता है ।पर चुना ऐसे ही नही लेना किसी चीज में उसे dialut करना है जैसे छाछ दही या फिर जूस में आप मिलाकर खा सकते ।

मेथी:

मेथी के तो गुणगान ही अनेक है वजन कम करने से लेकर किसी भी दर्द में ये बहुत ही लाभकारी है इसपर अलग से एक आर्टिकल लिखा जा सकता है फिलहाल बात करते है घुटने के दर्द के लिये तो मेथी दाना रोज सुबह खाली पेट घुटने के दर्द के लिए लेना है ।लेना कैसे है मेथी दाना थोड़ा गर्म होता है तो उसे रात भर पानी मे भिगो लीजिये सुबह उठकर पानी फेक दीजिये और एक चम्म्मच सुबह एक चम्मच रात को लीजिये ।

गेहू के ज्वार का रस :

health benefits of wheat grass

गेहूं के ज्वार का रस भी घुटने के दर्द में बहुत फायदेमंद होता ।गेहू का ज्वार सिर्फ घुटने के ही दर्द में नही और भी बहुत सारे रोग में फ़ायदेमंद होता इसके गुन अनेक है । गेहू के ज्वार के हेल्थ benefits जानने के लिए आप इस लिंक पर जाकर पढ़ सकते है wheat-grass-health-benfits

हरिश्रृंगार(पारिजात) का काढ़ा :

अब आते है रामबाण इलाज की तरफ़ वो है हरिश्रृंगार का काढ़ा हरिश्रृंगार क्या है ये समझ लेते है ये फूल का पौधा है जिसके फूल सफेद डांडिया ऑरेंज होती है फूल रात में फूलता है और रात में ही झड़कर गिर भी जाता है । इसे कुछ लोग हरिश्रृंगार बोलते है कुछ लोग पारिजात ।बहुत ही खूबसूरत और सुंगधित फूल होता पर इसका फूल हमे नही इस्तेमाल करना हमे इसकी पत्तियों का इस्तेमाल करना है ।कैसे जानते है

5-6पारिजात की पत्तियां लें उसे अच्छे से बारीक सिलबट्टे पर पीस लेगे और उस पीसे हुए पेस्ट को एक ग्लास पानी मे डालकर इतना उबले की वो आधा रह जाये फिर उसे ढककर रखदेगे सुबह उठकर बिना कुछ खाए पिये आपका पहला आहार यही होगा इसे पी लीजिये ।पीने के आधे घण्टे 45 minut बाद ही कुछ खाये या पिये।

यकीन मानिए केवल 5-6दिन में आपको इसका असर दीखना शुरू हो जाएगा ।मेरा खुद का अनुभव है।जिनको जिनको भी मैन ये ट्रीटमेंट बताया है उन सबने पेनकिलर खाना छोड़ दिया । और इसका कोई साइड इफ़ेक्ट भी नही ।तो आप बेफिक्र होकर ले सकते है । पारिजात के पत्ते को सर्दी जुकाम में भी काढ़े में डालकर उपयोग कर सकते है यह हमें वायरल इन्फेक्शन से भी बचाता है।यही नही डेंगू में भी बहुत असरकरी औषधि माना जाता।यदि बुखार हो उसमे भी मदद करता है । यह पत्ता बहुत सारे गुणों से भरपुर प्रकृति का दिया हुआ आनमोल तोहफा है ।

बचाव

घुटने के दर्द से बचाव के लिए नियमित दिनचर्या सही करे।हेल्दी खाना खाएं।

रोजाना नियमित रूप से हल्की फ़ुल्की एक्सर्साइज जरुर करें। अगर एक्सरसाइज़ न कर पाए तो मॉर्निंग वाक या इवनिंनग वाक जरूर करे ।

अपना वजन नियंत्रित करें अधिक वजन 100 बीमारियों को साथ लेकर आता है।

इन छोटी छोटी आदतों को अपनी दिनचर्या में शामिल कर आप बहुत बड़े बड़े बीमारियों से निजात पा सकते है

Note :

कोई भी आयुर्वेदिक इलाज 3 महीने से ज्यादा लगातार नही करना चाहये 3 महीने करके 15 दिन 1 महीने का अंतर रखे।उसके बाद फिर शुरू कर सकते हैं।

What is the most common reason for knee pain?

सबसे पहले हमें अपनी आदतों में सुधार करना होगा एक सुव्यवस्थित lifstyle अपनाना होगा तभी जाकर हम हमेशा के लिए बीमारियों से निजात पा सकते है ।

How do I keep my knees healthy?

1: सबसे पहले हमें अपनी आदतों में सुधार करना होगा एक सुव्यवस्थित lifstyle अपनाना होगा तभी जाकर हम हमेशा के लिए बीमारियों से निजात पा सकते है ।
2:शारीर में कही भी दर्द वायु दोष के बढ़ने की वजह से होता है, इसलिए अक्सर बुढ़ापे में हमें जोड़ों के दर्द की परेसानी होती है |
३ जोड़ों में दर्द के लिए भी वायु दोष एक कारण हो सकता है |

क्या वजन बढ़ने से जोड़ों का दर्द होता है ?

हाँ

जोड़ों के दर्द में किस तेल से मालिश करनी चाहिए ?

तिल का तेल सर्वोत्तम है .कोई भी गरम प्रकृति का तेल फायदेमंद है

Leave a Reply

%d bloggers like this: