17 type free organic fertilizer

1: चावल का पानी ( rice water)

चावल का पानी सब्जियों और फूलो के पौधों के लिए बहुत ही बढ़िया खाद होता है।जब हम चावल बनाते है तो उसको धुलने में जो पानी निकलता है वो भी पौधव के लिए फायदेमंद होता है और जो पानी चावल बनाते समय निकाला जाता है । 17 type free organic fertilizer जिसे हम देसी भाषा मे माड़ या माह भी कहते है । वो भी पौधों के लिए बहुत फायदेमंद होता है । चावल को धोते समय जो पानी निकलता है उसे हम डायरेक्ट पौधो में डाल सकते है ये सभी पौधों के लिए अच्छा होता है और इसमें किसी भी तरह का फंगस लगने का भी डर नही होता है 17 type free organic fertilizer

चावल बनते समय जो पानी निकलता है उसमें स्टार्च होता है ।उसके उपुयोग का तरीका थोड़ा अलग है । चावल बनाते समय जो स्टॉर्च वाला पानी निकलता उसे हमे 4 से 5 दिन के लिए रख देना है ताकि वो फेरमेंट्रेट हो जाये ।फेरमेंट्रेट हुए 1 गिलास पानी मे 5 गिलास नॉर्मल पानी मिलाकर तब पौधों में आवश्यकता अनुसार दें ।

ये ऐसे फ्री का फ़र्टिलाइज़र है जिसके लिए अलग से आपको मेंहनत करने की जरूरत नही पड़ती है । और इस पानी को हम फेक देते है जबकि हमारे पौधौं के लिए ये किसी वरदान से कम नही है । और फ्री के है इसलिए आप इनका पूरा उयोग करे खुद भी खुश रहें और पौधों को भी खुश रखें ।इनके उपयोग से पौधों की पत्तियां सुंदर रहती फूल अच्छे आते है पौधों पर सब्जियों के पौधों पर सब्जियां जल्दी और ज्यादा मात्रा में आने लगती है ।

2:सब्जियों का बेकार पानी

सब्जियां तो सबके घर मे बनती है । इन सब्जयो को हम बिना धुले उपयोग में नही लाते है ।कुछ लोग तो सब्जियों को काटने के बाद धुलते है हालांकि सब्जियों को काटने के बाद नही धुलना चाहिए ।पर अगर आप ऐसा करते है तो जो पानी धुलने के समय निकलता है उसे आप किसी बर्तन में इकट्ठा करके रखें ये पौधों के लिए बहुत ही अच्छे खाद का काम करेगा ।किसी भी सब्जी को चाहे वो आलू प्याज ही क्यो न हो जब इन्हें धुले तो धूल हुआ वो पानी आप इकट्ठा करके रखे और पौधों को दे ।सब्जियों के बहुत सारे पोषक तत्व और न्यूट्रिएंट इस पानी मे होते है जो आपके पौधव को स्वास्थ्य बनाने में मदद करते है । और पौधो में फूल और फल जल्दी लाने में मदद करते है

3:आयरन वाटर

पौधों को आयरन की भी बहुत आवश्यकता पड़ती है आयरन की कमी पौधौं में बहुत सारी समस्या उत्पन्न करती है इसके लिए सबसे सरल और मुफ्त का इलाज है किसी भी लोहे के बर्तन में पानी रखकर वो पानी पौधों को दे । या फिर किसी भी बर्तन में रखे पानी मे आयरन की रॉड या किल टुकड़ा कुछ भी डाल कर एक रात के लिए छोड़ दे फिर वो पानी पौधों को दे इससे पौधों में आयरन की कमी पूरी होगी ।

4:प्याज के छिलकों का पानी

प्याज के छिलके के खाद कर फायदे और इसे कैसे बनाना है पूरी विधि नीचे दिए लिंक में लिखी है आप चाहें तो पढ़ सकते है ।।प्याज जब भी आप उयोग करें छिलकों को फेंके न ।ये छिलके आपकी बगिया को फूलों से भर सकते है ।

5:राख (wood ash)

पुराने समय से लोग राख को एक तरह से खाद और कीटनाशक इंसेक्टिसाइड दोनों के रूप में प्रयोग करते आये है। और इन्हें बनाना बहुत आसान है कोई भी लकड़ी या गोबर के उपले जलाकर आप राख बना सकते है और इन्हें अपने पौधों पर बेफिक्र होकर उपयोग करिये कीड़े मकोडो से तो सुरक्षित रखेगे ही आपके पौधौं को पोषण भी देगा ।

6:एलोवेरा

एलोवेरा जेल न सिर्फ हमारे लिए बल्कि हमारे पौधों के लिए भी बहुत फायदेमंद है ।इसके जेल को पानी मे मिलाकर पौधों को दे ।ये बहुत सारे पोषक तत्वों से भरपूर होता है और पौधों को न्यूट्रिएंट और पोषक तत्व देता है ।पौधों को बहुत सारे माइक्रो न्यूट्रिएंट्स की जरूरत पड़ती है जो इन फ्री के खाद से पौधौं को दे सकते है

7:गार्डन की सूखी पत्तियां

आप अपने गार्डन की सूखी पत्तियों को इकट्ठा करके उसकी खाद बना सकते है। गार्डेन की सूखी पत्तियों की खाद आपके पौधौं को पोषण तो देगी ही साथ ही मिट्टी को भी हल्का बनाती है । सूखी पत्तियां का गमलो के ऊपर एक लेयर बना दे तो गर्मी में पौधौं का मॉइस्चर कंट्रोल करती है ।सुखी पत्यियों की खाद पौधों की ग्रोथ के लिए उनमे फल और फूल पाने के लिए बहुत अच्छी होती है

8:किचेन वेस्ट कंपोस्ट

रसोई से निकले सब्जियों के छिलके फलों के छिलके सड़ी गली सब्जियां फल जो भी हो उनकी कम्पोस्ट खाद बना सकते है ।और वो खाद पौधों की सारी जरूरतों को पूरा करने में मदद करता है ।पौधों पर जादू की तरह काम करता है ये खाद ।कम्पोस्ट खाद महीने में दो बार गमले के साइज और पौधव के जरूरत के अनुसार दे सकते है

9:गोबर की खाद

गोबर की खाद बहुत पुराने समय से पौधों की खाद के रूप में उपयोग होता है। अगर आपके पास गोबर की खाद उपलब्ध है तो किसी और खाद की बहुत ज्यादा जरूरत आपको नही पड़ने वाली ।गोबर की खाद अपने आप मे एक संपूर्ण आहार है पौधौं कि लिए ।इससे पौधे हरे भरे फूलों और फलों से लदे रहेंगे ।अगर आपको गमले में प्रयोग करना है तो हर महीने एक मुट्ठी गोबर की खाद हर गमले में डाल सकते ।

10:केले के छिलके की खाद

केले के छिलके की खाद बहुत अच्छी होती है फूलों वाले पौधव के लिए ।केला न सिर्फ खाने में फायदेमंद और स्वादिष्ट होता बल्कि पौधों को भी बहुत भाता है ।केले की छिलके की खाद बनाने किं पुरी विधि हमने लिखी है आप देख सकते है ।

11:संतरे निम्बू के छिलके की खाद

खट्टे फलों को कम्पोस्ट में नही डाल सकते क्योंकि कंपोस्टिंग का समय बढ़ जाएगा जल्दी कॉम्पोस्ट नही बनेगी ।इसलिए खट्टे फलों जैसे संतरा नीबू इनके फ़र्टिलाइज़र अलग से बनाते है ।इसके लिए दो विधि है या तो एंजाइम बना सकते है या फिर दो से तीन दिन के लिए पानी में डालकर छोड़ दे ।उसके बाद उस पानी को 5 से 7 गुना सादा पानी मे डालकर पौधों को दे ।

संतरे और निम्बु का एंजाइम भी बनाकर रख सकते जो पौधों के लिए किसी वरदान से कम नही ।एंजयम बनाने की विधि आप दिए हुए लिंक पर जाकर देख सकते है ।

12:पनीर का पानी

पानीर के पानी मे प्रोटीन अच्छी मात्रा में होता जिसकी जरूरत प्लांट्स को भी पड़ती है । पनीर के बचे हुए पानी मे बहुत सारे पोषक तत्व होते है ।जो हमारे प्लांट्स के लिए बहुत ही फायदेमन्द होते है ।पर पनीर के पानी को डायरेक्ट पौधों में नही डाल सकते है। इससे पौधों को नुकसान हो सकता है। पनीर का पानी हम सादे पानी मे मिलाकर तब देना चहिये।एक ग्लास पनीर के पानी मे 3 ग्लॉस सादा पानी मिलाकर दे सकते है

13:छाछ(मट्ठा)

छाछ जिसे मठ्ठा भी बोलते है ।पौधों कि बढ़वार के लिए वो अच्छी खाद का काम करती है ।पर ताज़ा छाछ पौधों के लिए न प्रयोग करें छाछ को किसी तांबे के बर्तन में एक हफ्ते के लिए रख दे जब छाछ खट्टी हो जाये तो इसे सादा पानी मे मिलाकर पौधों को दे । 1 गिलास छाछ को 12से15 ग्लास सादा पानी मे मिलाकर तब पौधो को दे ।डायरेक्ट पौधों में देने की गलती कभी न करें ।इस तांबे के बर्तन में रखी पुरानी छाछ को हम इंसेक्टिसाइड के रूप में भी प्रयोग कर सकते है।1 गिलास छाछ को 10 गिलास सादा पानी में मिलाकर स्प्रे बोतल में डालकर पौधों पर स्प्रे करें इसका बहुत ही अच्छा रिजल्ट है ।

14:सब्जियों के छिलके

सब्जियों के छिलके में पौधों के लिए जरूरी हर तरह के पोषक तत्व मिल जायेंगे। सब्जियों के छिलकों को 3 से 4 दिन के लिए पानी मे डाल कर छोड़ दे उसके बाद वो उस पानी मे दुगुना सादा पानी मिलाकर सभी पौधों को दे ।और बचे हुए छीलको को फिर से लिक्विड फ़र्टिलाइज़र के लिए प्रयोग कर ले या कम्पोस्ट बिन में डालकर कम्पोस्ट तैयार कर ले।

15:चूना

पौधों को कैल्शियम की भी जरूरत पड़ती है कैल्शियम की कमी की वजह से पौधों के पत्ते पिले पड़ने लगते है।और भी बहुत सारी समस्या का सामना करना पड़ता है । इसलिए सबसे सस्ता उपाय है चुना आधा चम्मच चुना को 5 से 6 लीटर पानी मे मिलाकर पौधों को दे सकते है इससे आपके पौधे हेल्थी रहेंगे

16:पालक का पानी

पालक में भरपुर मात्रा में आयरन और मिकटोन्यूट्रिएंट मौजूद होते है जो पौधो को पोषक तत्व देते है ।अक्सर हम पालक धुलते है उसका पानी फेक देते है पालक का पानी कभी भी फेके न उसे अपने पौधों को दे दे ।बहुत से लोग पालक को उबालकर उसका पानी फेक देते है उस पानी मे बहुत सारे पोषकतत्व होते है जिनसे हमारे पौधे स्वस्थ रहेंगे ।

17: दूध (milk)

दूध में अच्छी मात्रा में प्रोटीन और मिक्रोन्यूट्रिएंट होते है जो पौधों की बढ़त के लिए बहुत अच्छा होता है । दूध का स्प्रे पौधौं को बहुत पसंद है । पर दूध को डायरेक्ट नही दे सकते है ।कच्चा दूध 1 गिलास लेकर उसे 15 गिलास में मिला दे और वो मिश्रण पौधों पर स्प्रे करें। इससे पौधों की पत्तियां भी खूबसूरत और चमकदार होगी

तो इतने सारे फ्री के फ़र्टिलाइज़र है जो हम अपने पौधों को बिना किसी खर्च के दे सकते है और सिर्फ इन खाद का प्रयोग करके हम अपने पौधों मे अच्छी बढ़त फल फूल पा सकते है।और सबसे अच्छी बात ये बिल्कुल आर्गेनिक है ।

3 thoughts on “17 type free organic fertilizer

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: